न्यूज़

दंतेवाड़ा जिले में पीडीएस राशन की कालाबाजारी करने वालोंं पर सख्त कार्रवाई हो—हूंगाराम

सुकमा भाजपा जिला अध्यक्ष ने चावल माफियाओं के खिलाफ कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कानूनी कार्रवाई की मांग की.

सुकमा. सुकमा जिले को जारी पीडीएस राशन दंतेवाड़ा जिले में पाये जाने पर भाजपा जिला अध्यक्ष हूंगाराम मरकाम ने भारी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने इस संबंध में कलेक्टर सुकमा को ज्ञापन सौंपकर राशन की कालाबाजारी में शामिल माफियाओंं पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है. सुकमा जिले की गरीब जनता के लिए सरकारी राशन को माफियाओं द्वारा दंतेवाड़ा पहुंचाया गया है.

हूंगाराम मरकाम ने सौंपे ज्ञापन में लिखा है कि आदिवासी बहुल्य इलाके में पीडीएस योजना के तहत चावल राशन की दुकानोंं में सप्लाई किया जाना था, जिसके लिए बस्तर जिले के बकावण्ड स्थित रजा राईस मिल से चावल सुकमा वेयर हाउस तक पहुंचना था. लेकिन चावल से भरा हुआ ट्रक अपने गंतव्य तक कन पहुंकर कहकीं और ही पाया गया. दंतेवाड़ा पुलिस और प्रशासन की टीम ने इस साजिश का बेनकाब करते हुए पीडीएस चावल से भरा हुआ ट्रक अन्य स्थान से बरामद किया तो शुरूआती जांच से पता चला कि यह ट्रक गीदम निवासी शकील रिजवी का है. जो कि राज्य की सत्ता पर काबिज राजनीतिक पार्टी विशेष से ताल्लुक रखते हैं. जन पर पूर्व में भी खाद्य विभाग के साथ मिलकर चावल की तस्करी व हेराफेरी करने के आरोप तक लग चुके हैं.

राशन माफियाओं का राज…
एक ओर जहां केन्द्र सरकार पूरी संवेदशीलता के साथ इस कोरोना महामारी के दौर में जरूरतमंदों, गरीबों और प्रवासी मजदूरों के लिए राज्यों को अलग से राशन का कोटा आबंटन करके राहत पहुंचाने का काम कर रही है. वहीं दूसरी ओर राज्य में सरकार बदलने के साथ ही अवैध चावल माफियाओं की तो लॉटरी निकल पड़ी है. जिसमें आदिवासियों को बांटा जाने वाला चांवल बड़े पैमाने पर चोरी और हेराफेरी की जा रही है. निश्चित रूप से इतना बड़ा गोरखधंधा बिना किसी राजनीतिक प्रश्रय के संभव ही नहीं है.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close